अब दुनिया पर लासा फीवर का खतरा  

lassa-fever-transmission-rats
lassa-fever-transmission-rats
ब्यूरो। इबोला जैसी जानलेवा बीमारी के बाद अब दुनिया पर लासा फीवर का खतरा मंडराने लगा है। 2015 से लेकर अब तक अफ्रीका में करीब 160 लोगों की मौत लासा फीवर के चलते हो चुकी है। अफ्रीका महाद्वीप के कई देशों में लासा फीवर का वायरस फैला हुआ है। पश्चिमी अफ्रीका, नाइजीरिया, बेनिन, सियरा लिओन, टोगो में लासा फीवर के करीब तीन सौ से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक नाइजीरिया में सबसे ज्यादा मरीज सामने आए हैं। यहां करीब 266 मरीजों मिले हैं। जबकि 138 लोगों की मौत हुई है। बेनिन में 51 केस मिले हैं और 25 लोगों की मौतें अब तक दर्ज की जा चुकी हैं। टोगो और सियरा लिओन में दो केस सामने आए हैं।
लासा फीवर का पता लगाना मुश्किल
विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक लासा फीवर चूहे के कारण है। मेस्टोमिस चूहे की ये प्रजाति पश्चिमी अफ्रीका के प्रांतों में पाई जाती है। लासा वायरस संक्रमित चूहों के सीधे संपर्क में आने के कारण होता है। इन इलाकों में लोग चूहों को पकड़कर खाते हैं। इसके जरिए वायरस मानव शरीर में फैल जाता है। लासा वायरस संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आने से भी फैल सकता है। ये मानव फ्ल्यूड्स के जरिए फैलता है। करीब अस्सी प्रतिशत लोगों में लासा वायरस के लक्षणों का पता नहीं चल पाता है। इसके लक्षणों में बुखार, थकान, नोसिया, उल्टी, डायरिया, सिर दर्द, पेट में दर्द, गले में सूजन और चेहरे पर सूजन आती है।
जल्दी लक्षणों का पता ना चल पाने के कारण इसका इलाज भी नहीं हो पाता है। पांच में से एक मरीज की हालत इसमें ज्यादा गंभीर हो जाती है। ये वायरस सीधे मानव शरीर के महत्वपूर्ण अंगों पर प्रहार करता है। इनमें लीवर, स्पलीन, किडनी पर इसका सीधा असर पड़ता है।
जर्मनी में भी पहंुचा लासा वायरस
अफ्रीका के अलावा जर्मनी में भी लासा वायरस का मरीज मिला है। इससे यूरोप में इस वायरस के फैलने का खतरा पैदा हो गया है। अफ्रीका से बाहर लासा वायरस का ये पहला केस है। फ्यूनरल होम में काम करने वाले एक कर्मचारी को संक्रमण हुआ था। इसको फैलने से रोकने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन लगातार प्रयास कर रहा है।

882 total views, 4 views today

It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

Related posts

Leave a Comment