सावधान! कुत्ते के काटने से मार सकता है लकवा

Affect of Rabies

Affect of Rabies
ब्यूरो। पालतू और आवारा कुत्तों के काटने से आपको लकवा मार सकता है। कुत्ते की लार में मौजूद वायरस आपके शरीर में जाकर पूरा नर्वस सिस्टम तबाह कर देता है। इस बीमारी को आम तौर पर रैबीज के नाम से जाना जाता है। रैबीज कुत्ते के काटने से होता है। ये वायरल डिजीज जो दुनिया भर के 150 देशों में पाई जाती है। एशिया और अफ्रीका देशों में सबसे ज्यादा मौते होती हैं। भारत में भी कुत्ते के काटने के कारण सैकड़ों मौतें होती हैं। लाखों लोग सालाना कुत्ते के काटने के बाद अस्पतालों में इंजेक्शन लगाने पहंुच रहे हैं। हालांकि, ये वैक्सीन के जरिए सही होने वाला रोग है। लेकिन, लापरवाही अक्सर खतरनाक साबित हो जाती है।

क्या हैं रैबीज
रैबीज एक वायरल डिजीज है। कुत्ते में रैबीज का वायरस पाया जाता है। जब कुत्ता किसी इंसान को काटता है या खरोंच डालता है तो उसकी लार के जरिए ये वायरस इंसान के शरीर में पहंुच जाता है। चालीस प्रतिशत बच्चों कुत्तों का काटने का शिकार बनते हैं।

क्या हैं लक्षण
कुत्ते के काटने के बाद लक्षणों के विकसित होने में एक से तीन माह का समय लग सकता है। कई बार ये एक सप्ताह से एक साल तक खिंच जाता है। शुरूआती लक्षणों में बुखार, बदन दर्द, असाधारण तरह की खुजली होना। साथ ही जहां कुत्ते ने काटा है, उस स्थान पर जलन महसूस होना इसके प्रमुख लक्षण हैं। इतना ही नहीं वायरस कई बार फैलता हुआ शरीर के केंद्रीय नर्वस सिस्टम तक फैल जाता है और उसे नुकसान पहुंचाता है। इसके कारण स्पाइनल कार्ड की समस्या पैदा होती है और इंसान को लकवा मार जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक करीब तीस प्रतिशत लकवे के मामलों में रैबीज यानी कुत्तों का काटना पाया गया है।

पानी से लगता है डर
रैबीज के लक्षणों में पानी से डर लगना भी शामिल हैं। इसमें मरीज को पानी से डर लगता है। कई बार हवा से भी डर महसूस करने के लक्षण सामने आए हैं। दिल और सांस की बिमारी से इंसान की मौत तक हो जाती है।

क्या करें उपाय
सबसे पहले तो कुत्ते के काटने की जानकारी का सही समय पर तुरंत पता चलना चाहिए। कुत्ता काटता है तो उसे तुरंत साफ पानी से धोना चाहिए। करीब पंद्रह मिनट तक साबुन और पानी से धोना चाहिए। इसके बाद कुत्ते के काटने के इंजेक्शन को लगाना चाहिए। ये इंजेक्शन सरकारी अस्पतालों में मुफ्त लगाए जाते हैं। वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. संदीप निगम ने बताया कि वैक्सीन से इस रोग से छुटकारा पाया जा सकता है। लेकिन, जल्द से जल्द कुत्ते के काटने के बाद वैक्सीननेशन करा लेना चाहिए। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक दुनिया भर में करीब डेढ़ करोड़ लोग प्रत्येक साल कुत्ते के काटने के बाद इंजेक्शन लगाते हैं।

5,045 total views, 2 views today

It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

Related posts

Leave a Comment