बिना दवाओं के भी हैं रोगों का इलाज संभव, जानिये कैसे, देखें वीडियो

बिना दवाओं के भी हैं रोगों का इलाज संभव, जानिये कैसे, देखें वीडियो

ब्यूरो। क्या आप परेशान है, क्या आपको कामयाबी नहीं मिल रही है, घर में झगडा, परिवार में क्लेश रहती है। क्या आपको अपने बिजनेस में हानि हो रही है, या किसी गंभीर रोग से पीडित हैं। अगर हां तो आपको इन सब समस्याओं का इलाज करने के लिए लाखों रुपए डॉक्टरों को देनें होंगे, जो दवाओं से आपका ईलाज करेंगे। लेकिन हरिद्वार के डा. अजय मगन एक ऐसी पद्धति लेकर आए हैं जो दुनिया की सबसे पुरानी तकनीक है और जो बिना दवाओं के इंसानों का इलाज करती है। डा….

15,886 total views, 85 views today

Read More

ये चीजें होनी चाहिए फस्ट एड किट में

ये चीजें होनी चाहिए फस्ट एड किट में

ब्यूरो। अक्सर दुर्घटना या चोट लगने पर प्राथमिक उपचार की जरूरत पड़ती है। घर से अस्पताल दूर होने के कारण अक्सर प्राथमिक उपचार समय पर नहीं मिल पाता है। इसके कारण कई बार मरीज की जान सकते में आ जाती है। इस समस्या से निपटने के लिए घर में फस्ट एड किट होनी चाहिए। ताकि एन वक्त पर प्राथमिक मरहम पट्टी या उपचार किया जा सके। आज जानते हैं कि कौन से सामान फस्ट एड किट में होनी चाहिए। – इमरजेंसी मोबाइल नंबर और इमरजेंसी मेडिकल सर्विस 108/102/1090 का प्रयोग…

1,610 total views, 4 views today

Read More

ब्लड और ब्लड कंपोनेंट की अदला—बदली कर सकेंगे ब्लड बैंक

ब्लड और ब्लड कंपोनेंट की अदला—बदली कर सकेंगे ब्लड बैंक

केंद्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी अनुमति, पहले नहीं थी गाइडलाइन ब्यूरो।  स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने नेशनल ब्लड ट्रॉन्फूजन काउंसिल की सिफारिश पर सुरक्षित रक्त सुनिश्चित करने और रक्त उत्पादों तक पहुंच बढ़ाने की अपनी प्रतिबद्धता के रूप में रक्त और रक्त के घटकों के बेहतर उपयोग की दिशा में दो प्रमुख पहलों की पहचान की है। पहला कदम एक ब्लड बैंक से दूसरे ब्लड बैंक को रक्त हस्तांतरित करना है। पहले इसकी अनुमति नहीं थी और अब इस कदम से रक्त की कमी वाले स्थानों पर…

1,211 total views, 3 views today

Read More

महाराष्ट्र, आंध्र और बंगाल में तीन एम्स अस्पतालों को मंजूरी

महाराष्ट्र, आंध्र और बंगाल में तीन एम्स अस्पतालों को मंजूरी

ब्यूरो। प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत तीन नए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, एम्स, की स्थापना के लिए मंजूरी दे दी गई है। केंद्रीय मंत्रीमंडल ने इन तीनों एम्स के लिए चार हजार नौ सौ उनचार करोड़ रुपए की व्यवस्था की है। ये संस्थान महाराष्ट्र के नागपुर, आंध्र प्रदेश के मंगलागिरी और पश्चिम बंगाल के कल्याणी में स्थापित किए जाएंगे। इन नए एम्स की स्थापना राष्ट्रीय महत्व के संस्थान के तौर पर की जाएगी जिसके जरिए गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा और नर्सिंग शिक्षा उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके अलावा स्थानीय लोगों को उच्च…

1,834 total views, 4 views today

Read More

लापरवाही से लाइलाज बन जाता है अस्थमा

लापरवाही से लाइलाज बन जाता है अस्थमा

ब्यूरो। अस्थमा एक लंबे समय की फेफड़ों से जुड़ी बिमारी है जो सांस की नली को संकरा करती है। अस्थमा पिछले कुछ सालों से तेजी से बढ़ती जा रही है। पर्यावरण का प्रदूषण होना भी इसका एक कारण है। हाल ही में दिल्ली स्थित एम्स में अस्थमा और एलर्जी पर मंथन हुआ। इसमें देश भर के डॉक्टरों ने हिस्सा लिया। उत्तराखण्ड के बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. संदीप निगम भी इसमें पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि अस्थमा भारत में विकराल रूप लेता जा रहा है। ये भारत में खतरनाक स्थिति में…

6,984 total views, 6 views today

Read More

आखिर क्या है नर्सेज संघ की ग्रेड-पे मांग

आखिर क्या है नर्सेज संघ की ग्रेड-पे मांग

ब्यूरो। उत्तराखण्ड में करीब सात से आठ हजार नर्सें पिछले छह दिनों से बेमियादी हड़ताल पर हैं। नर्सों की ये लड़ाई नई नहीं है। इसकी शुरूआत दो साल पहले तब हुई थी जब राज्य सरकार ने फार्मासिस्टों का आखिरी ग्रेड-पे 7600 कर दिया था। इसका नर्सों ने तब भी विरोध किया था। लेकिन, सरकार के आश्वासन के बाद नर्सों ने आंदोलन टाल दिया है। लेकिन, इस बार नर्सें आर पार की लड़ाई को तैयार हैं।  उत्तराखण्ड नर्सेज संघ की हरिद्वार जिलाध्यक्ष मीनाक्षी जेटली ने बताया कि नर्सें चार साल की…

603 total views, 2 views today

Read More

तेज बुखार, सिर दर्द, ठंड लगना यानी मलेरिया होना

तेज बुखार, सिर दर्द, ठंड लगना यानी मलेरिया होना

ब्यूरो। मलेरिया एक तेज बुखार वाली बिमारी है। संक्रामक मच्छर काटने के बाद सात दिन या उससे अधिक (आमतौर पर 10-15 दिन) में इसके लक्षण दिखाई देते हैं। ये हैं इसके लक्षण पहला लक्षण – बुखार, सिर दर्द, ठंड लगना और उल्टी आना है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक दुनिया के करीब सौ से अधिक देश मलेरिया की चपेट में हैं। मलेरिया प्लाजमोडियम नाम के मच्छर के काटने से होता है। दुनिया की आधी आबादी पर मलेरिया का खतरा बना रहता है। ये देश हैं प्रभावित मलेरिया से सबसे ज्यादा…

3,784 total views, 8 views today

Read More

रक्त दान : मेरा जीवन बचाने का शुक्रिया

रक्त दान : मेरा जीवन बचाने का शुक्रिया

ब्यूरो। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनिया भर में खून की कमी को देखते हुए स्वैच्छिक रक्तदाताओं की संख्या को बढ़ाने के लिए प्रयास करने का ऐलान किया है। 14 जून को विश्व रक्तदाता दिवस को इस वर्ष ‘मेरा जीवन बचाने का शुक्रिया’ नारा दिया गया है। दुनिया भर में इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं। बच्चे के जन्म के गर्भावस्था, प्रसव के दौरान या बाद में गंभीर रक्तस्राव मातृ मृत्यु का एक सबसे बड़ा कारण है। गर्भावस्था और बच्चे के जन्म में जटिलताओं के लिए 2013 में बच्चे के…

440 total views, 2 views today

Read More

मोटापा से हो सकता है स्तन का कैंसर

मोटापा से हो सकता है स्तन का कैंसर

ब्यूरो। मोटापे का शिकार महिलाओं को स्तन कैंसर की संभावनाएं ज्यादा रहती है। स्तन के अलावा आंत का भी कैंसर होने का खतरा बना रहता है। मोटापा अपने आप में गंभीर रोग की शक्ल लेता जा रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक 1980 से मोटापे से पीडित व्यक्तियों की संख्या में दोगुना इजाफा हुआ है। यूरोप, अमेरिका, एशिया और अफ्रीका और आॅस्ट्रेलिया पांचों महाद्वीपों में मोटापे के मरीज बढ़ रहे हैं। भारत में भी मोटापे ने तेजी से पांच पसारे है। बड़े शहरों में खासतौर पर इनकी संख्या बढ़…

484 total views, no views today

Read More

सरकार बधिरों के लिए संस्‍थान पर विचार कर रही है : डॉ. जितेंद्र

सरकार बधिरों के लिए संस्‍थान पर विचार कर रही है : डॉ. जितेंद्र

ब्यूरो। पूर्वोत्‍तर क्षेत्र विकास (स्‍वतंत्र प्रभार), प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, जन शिकायत, पेंशन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्‍य मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह ने आज कहा कि सरकार बधिरों के हितों के लिए एक स्‍वतंत्र निकाय के रूप में ‘भारतीय सांकेतिक भाषा अनुसंधान एवं प्रशिक्षण केंद्र’ स्‍थापित करने पर विचार कर रही है। वह ‘बधिरों के राष्‍ट्रीय संघ’ (एनएडी) के सचिव श्री ए एस नारायणन की अगुवाई में एक प्रतिनिधिमंडल से बात कर रहे थे। श्री नारायणन ने प्रस्‍तावित भारतीय सांकेतिक भाषा अनुसंधान एवं प्रशिक्षण केंद्र की स्‍थापना ‘अली यावर जंग राष्‍ट्रीय…

689 total views, 3 views today

Read More